Breaking News Hindi

कलवरी सबमरीन नेवी के बेड़े में शामिल, मोदी बोले- भारत की सामुद्रिक ताकत का कोई मुकाबला नहीं

मुंबई. स्कॉर्पीन क्लास की पहली सबमरीन (पनडुब्बी) कलवरी गुरुवार को नेवी में कमीशंड हुई। मुंबई के मजगांव डॉकयार्ड में नरेंद्र मोदी इसे नौसेना को समर्पित किया। इस दौरान डिफेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण, नेवी चीफ एडमिरल सुनील लान्बा, वाइस एडमिरल गिरीश लूथरा समेत कई अफसर मौजूद थे। मोदी ने कहा कि 21वीं सदी का रास्ता हिंद महासागर से होकर ही निकलेगा।

भारत की सामुद्रिक ताकत का कोई मुकाबला नहीं

– मोदी ने कहा, “7500 किलोमीटर से लंबा हमारा समुद्री तट, 1300 के करीब छोटे बड़े द्वीप एक ऐसी सामुद्रिक शक्ति का निर्माण करते हैं जिसका कोई मुकाबला नहीं। हिंद महासागर भारत ही नहीं पूरे विश्व के लिए अहम है। कहा जाता है कि इक्कीसवीं सदी एशिया की सदी है। यह भी तय है कि इसका रास्ता हिंद महासागर से होकर ही निकलेगा।”

– “जिस तरह भारत की राजनीतिक और आर्थिक मैरीटाइम पार्टनरशिप बढ़ रही है उससे इस लक्ष्य की प्राप्ति और आसान नजर आती है। समुद्र में निहित शक्तियां राष्ट्र निर्माण में आर्थिक शक्तियों मौजूद हैं।”
– “चाहे समुद्र के रास्ते आने वाला आतंकवाद हो पायरेसी की समस्या हो ड्रग्स की तस्करी हो भारत इन चुनौतियों से निपटने में अहम भूमिका निभा रहा है। सबका साथ सबका विकास यह हमारा संकल्प जल-थल-नभ में एकसमान है। हम वसुधैव कुटुंबकम के जरिए अपने दायित्व को निभा रहा है।”

नेवी में काफी क्षमता

– मोदी ने कहा, “नेवी जहां मालदीव में पानी पहुंचाती है, वहीं बांग्लादेश में चक्रवात आता है तो लोगों को निकालकर मानवता का काम करती है।”
– “यमन में संकट के समय भारतीय नौसेना 45000 से ज्यादा अपने नागरिकों को बचाती है। तब 48 देशों के नागरिकों को भी संकट से बाहर निकालकर ले आती है।”
– “नेपाल में भूकंप के वक्त भारतीय सेना ने 700 से ज्यादा उड़ानें भरीं, 1000 टन से ज्यादा राहत सामग्री पहुंचाई। भारत मानवता के काम में कभी पीछे नहीं रह सकता।”
– “आज हम दुनिया के विभिन्न देशों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रहे हैं। उनकी सेनाएं हमारी सेना से अनुभव साझा करने के लिए आतुर रहती हैं। जब वे एक्सरसाइज में शामिल होती हैं तो यह चर्चा का विषय रहता है।”

120 दिन तक हुआ था ट्रायल

– नेवी के एक अफसर के मुताबिक, 120 दिन तक पानी के अंदर कलवरी के इक्विपमेंट्स की टेस्टिंग की गई थी। इसके शामिल होने से नेवी का ताकत कई गुना बढ़ जाएगी।

– कलवरी का डिजाइन फ्रांस की कंपनी ने तैयार किया है। इसे दुनिया की सबसे घातक सबमरीन में से एक माना जा रहा है।

– यह टॉरपीडो और एंटी शिप मिसाइलों से हमले कर सकती है। भारत में 1999 में तैयार प्लान के मुताबिक 2029 तक 24 पनडुब्बियां बनाने की योजना है।

– स्कॉर्पीन पनडुब्बियों का डाटा लीक होने की रिपोर्ट पिछले साल अगस्त में सामने आई थी। इसके बावजूद कलवरी का ट्रायल जारी रहा। माना गया था कि डेटा भारत से लीक नहीं हुआ।

Most Popular

Hindi News360 shows the breaking, latest news in Hindi, Samachar (समाचार) & headlines from India, current affairs, cricket, sports, business, bollywood और न्यूज़ ट्रेंड्स हिंदी में hindinews360.com पर.

Copyright © 2017 Hindinews360.com

To Top
%d bloggers like this: